यूजीसी नेट (UGC NET) परीक्षा क्या है योग्यता, प्रक्रिया, तैयारी

Ashok Nayak
0

यूजीसी नेट (UGC NET) परीक्षा क्या है योग्यता, प्रक्रिया, तैयारी

अक्सर लोग किसी चीज को हासिल करने के लिए अपनी जान से भी ज्यादा मेहनत करते हैं और तब तक मेहनत करते रहते हैं जब तक कि वे उस चीज में सफल नहीं हो जाते जिसमें वे सफल होना चाहते हैं, उसी तरह कई लोग अपनी जान भी दे देते हैं। खेर, आज के लेख में मैं आपको यूजीसी नेट से संबंधित विषयों के बारे में बताऊंगा जो आप पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद यह परीक्षा दे सकते हैं। इसमें मैं आपको बताऊंगा यूजीसी नेट परीक्षा क्या है? (यूजीसी नेट परीक्षा हिंदी में क्या है) यूजीसी नेट परीक्षा के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? (यूजीसी नेट के लिए योग्यता) इन्हीं सब बातों के बारे में आज के इस आर्टिकल में मैं आपको बताने जा रहा हूं।

अक्सर लोग पढ़ाई बेहतरीन तरीके से करते हैं क्योंकि वे दूसरों को पढ़ाना चाहते हैं ताकि हमारा देश आगे बढ़ सके। अगर आप प्रोफेसर बन जाते हैं तो यूजीसी नेट की परीक्षा जरूर दें क्योंकि यह परीक्षा ही आपको योग्य बनाती है और इस परीक्षा को पास करने के बाद आप किसी अच्छे विश्वविद्यालय में बहुत आराम से पढ़ा सकते हैं। यह परीक्षा इतनी आसान नहीं है इसलिए इसमें आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है।

यूजीसी नेट (UGC NET) परीक्षा क्या है योग्यता, प्रक्रिया, तैयारी

अगर आपको पढ़ाई के साथ-साथ पढ़ाने का भी बहुत शौक है और आपका सपना भविष्य में और अधिक लोगों को शिक्षित करना और उच्च शिक्षा प्राप्त करके अपना भविष्य बनाना है, तो आपको यह जानने की जरूरत है कि यूजीसी नेट परीक्षा के लिए आयु सीमा क्या है। (यूजीसी नेट के लिए आयु सीमा) यूजीसी नेट परीक्षा में चयन की प्रक्रिया क्या है (यूजीसी नेट परीक्षा में चयन प्रक्रिया) यूजीसी नेट परीक्षा की तैयारी कैसे करें (यूजीसी नेट परीक्षा की तैयारी हिंदी में कैसे करें) UGC NET परीक्षा में उत्तीर्ण होने के क्या लाभ हैं? और भी बहुत कुछ के बारे में बताएंगे, बस इस लेख को बहुत ध्यान से पढ़ें।

Table of content (TOC)

यूजीसी नेट परीक्षा क्या है

दोस्तों यूजीसी का फुल फॉर्म है (राष्ट्रीय अनुदान आयोग) जिसे हिंदी में (Union Grant Commission) कहते हैं और NET का फुल फॉर्म होता है। (राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा) यानी इसे हिंदी में (नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट) कहते हैं, जिसे आम भाषा में हम यूजीसी और नेट भी कहते हैं।

UGC NET परीक्षा राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित कंप्यूटर द्वारा आयोजित परीक्षाओं में से एक है। इसका मुख्यालय दिल्ली में है। जिसे भारत सरकार ने 1956 ई. में स्थापित किया था।

अगर आप किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर बनना चाहते हैं चाहे वह सरकारी कॉलेज हो या निजी कॉलेज, उसके लिए आपको यूजीसी क्वालिफाई करना होगा जो कि एक ऑनलाइन परीक्षा है। तभी आप किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रोफेसर या शिक्षक बनने के योग्य होते हैं।

इस परीक्षा को राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा माना जाता है, जिसे स्नातकोत्तर छात्र अपने पसंदीदा विषयों के अनुसार यह परीक्षा दे सकते हैं। यह परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है। जो क्रमश: जून और दिसंबर में आयोजित की जाती है।


यूजीसी नेट परीक्षा के लिए योग्यता

खैर, इस परीक्षा को देने के लिए आपके पास कुछ योग्यता होनी चाहिए तभी आप आवेदन कर सकते हैं। खेर, अगर आप यूजीसी नेट की परीक्षा देना चाहते हैं तो आपके लिए निम्नलिखित योग्यताएं होना बेहद जरूरी है जो इस प्रकार हैं:-

  1. आपको कम से कम 55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन में किसी भी विषय में उत्तीर्ण होना चाहिए।
  2. अगर आप आरक्षित वर्ग से आते हैं तो आपको 5% अंकों की छूट दी जाती है।
  3. इसके अलावा आपके लिए अध्यापन के प्रति बहुत लगाव होना बहुत जरूरी है क्योंकि इस परीक्षा के माध्यम से छात्र के शिक्षण अनुसंधान के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की जाती है।
  4. आपके पास पढ़ाने की कला होनी चाहिए ताकि दूसरों को आपकी भाषा और आपके पढ़ाने का तरीका पसंद आए।
  5. कोई भी विषय जिससे आप यूजीसी नेट क्वालिफाई करना चाहते हैं; आपके लिए उस विषय में अच्छी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

यूजीसी नेट परीक्षा के लिए आयु सीमा

यदि आप यूजीसी नेट परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं तो प्रोफेसर या सहायक प्रोफेसर के लिए कोई आयु सीमा नहीं है; लेकिन अगर आप यूजीसी नेट क्वालिफाई कर जूनियर रिसर्च के पद पर काम करना चाहते हैं तो इसके लिए न्यूनतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए।

यूजीसी नेट परीक्षा शुल्क

अगर कोई उम्मीदवार यूजीसी नेट परीक्षा देना चाहता है तो सबसे पहले उसे यूजीसी नेट परीक्षा की अधिसूचना के समय ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। जिसके लिए सामान्य श्रेणी के उम्मीदवार ₹1000 भुगतान किया जाना है; सामान्य वर्ग के ईडब्ल्यूएस और ओबीसी गैर-क्रीमी लेयर उम्मीदवारों के लिए समान। ₹500 और बाकी उम्मीदवार जो एससी और एसटी वर्ग से आते हैं; उनसे लड़ो ₹250 का भुगतान किया है।


यूजीसी नेट परीक्षा की तैयारी कैसे करें

जो भी उम्मीदवार UGC NET की परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं, उनके मन में सबसे पहला सवाल यही होता है कि इस परीक्षा की तैयारी कैसे करें। (यूजीसी नेट परीक्षा की तेयरी कैसे करे) इसलिए मैं आपको कुछ टिप्स देने जा रहा हूं जो यूजीसी नेट परीक्षा की तैयारी में आपकी मदद करेंगे:-

  1. हर दिन के लिए एक टाइम टेबल बनाएं और उसका पालन करने की पूरी कोशिश करें।
  2. किसी भी विषय का अध्ययन करने से पहले उसके सिलेबस को अच्छी तरह से पढ़ लें और उसके अनुसार नोट्स बनाकर उसका अध्ययन करें।
  3. मॉक टेस्ट देते रहें और पिछले वर्षों के अधिक से अधिक प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करें।
  4. अपने सब्जेक्ट का रिवीजन करते रहें और जिस भी टॉपिक में आपको ज्यादा परेशानी हो, उस सब्जेक्ट के टॉपिक को ज्यादा से ज्यादा समय देने की कोशिश करें ताकि आप चीजों को अच्छे से समझ सकें।
  5. पढ़ाई के दौरान तनाव को अपने ऊपर हावी न होने दें और कभी भी लगातार पढ़ाई न करें, बीच-बीच में ब्रेक लें और पढ़ाई करें ताकि आपका दिमाग शांत रहे और आपको चीजें याद रहे।
  6. अपने आप को स्वस्थ रखें क्योंकि जब हम स्वस्थ नहीं रहेंगे तो हमारा शरीर चुस्त नहीं होगा और हमारा दिमाग भी काम नहीं करेगा।
  7. पढ़ने का मतलब यह नहीं है कि हम सोना भूल जाएं। अगर आप पढ़ रहे हैं तो आपको भी अच्छी नींद की बहुत जरूरत है; क्योंकि यह आपकी एकाग्रता को बुरी तरह प्रभावित करता है। इसलिए पढ़ाई के साथ-साथ अच्छी नींद भी लें।
  8. आप जिस भी विषय से NET क्वालिफाई करना चाहते हैं, उस विषय से संबंधित नई जानकारी और सामान्य ज्ञान प्राप्त करते रहें।

यूजीसी नेट परीक्षा में चयन की प्रक्रिया क्या है (यूजीसी नेट परीक्षा में चयन प्रक्रिया)

आइए अब जानते हैं कि यूजीसी नेट (UGC नेट) परीक्षा की चयन प्रक्रिया क्या है, तो मैं आपको नीचे चरण दर चरण पूरा बताऊंगा, इसलिए आप पूरा लेख ध्यान से पढ़ें।

1 पूर्ण स्नातकोत्तर

जैसा कि मैंने आपको पहले बताया था कि नेट की परीक्षा केवल वही उम्मीदवार दे सकते हैं जिन्होंने पोस्ट ग्रेजुएट किया हो और वह भी कम से कम 55 प्रतिशत अंकों के साथ यदि आप 55% यानी 54.9 से कम अंक प्राप्त करते हैं। फिर भी आप इस परीक्षा को देने के योग्य नहीं हैं।

2 यूजीसी नेट परीक्षा 2 बार आयोजित की जाती है

इसके अलावा आपके लिए यह जानकारी प्राप्त करना बहुत जरूरी है कि आपको नेट का सर्टिफिकेट मिलने के 2 साल के अंदर पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जानी चाहिए। आइए अब जानते हैं कि इसकी चयन प्रक्रिया क्या है क्योंकि मैं आपको पहले ही बता चुका हूं कि यह एक ऑनलाइन परीक्षा है; जिसमें 2 पेपर होते हैं।

3 यूजीसी नेट कुल अंक

पहला पेपर जिसमें आपसे 50 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें अधिकतम अंक 100 होते हैं। वही दूसरा पेपर जिसमें 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जो 200 अंकों के होते हैं यानी आप समझ गए होंगे कि प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का है। यह परीक्षा बहुविकल्पीय यानि वस्तुनिष्ठ प्रकार की होती है, जिसे बहुत सावधानी से हल करना बहुत जरूरी है। साथ ही अच्छी बात यह है कि इस परीक्षा में माइनस मार्किंग का कोई प्रावधान नहीं है और आप इस परीक्षा को हिंदी या अंग्रेजी भाषा में दे सकते हैं।

4 विषय चुनें

लेकिन ध्यान रहे अगर आपका मेन सब्जेक्ट हिंदी है तो आपको पेपर हिंदी में ही देना होगा और अगर आपका मेन सब्जेक्ट अंग्रेजी है तो आपको पेपर अंग्रेजी भाषा में ही देना होगा।

5 किस विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं

इसके बाद हमारे मन में सबसे पहला सवाल यह होगा कि इन दोनों पेपर में किस विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं तो सबसे पहले हम आपको बता दें कि पेपर 1 10 इकाइयां शामिल हैं। जिसमें आपसे टीचिंग एप्टीट्यूड, रिसर्च एप्टीट्यूड, कॉम्प्रिहेंशन, कम्युनिकेशन, मैथमैटिकल रीजनिंग एंड एप्टीट्यूड लॉजिकल, रीजनिंग डेटा इंटरप्रिटेशन, इंफॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी, डेवलपमेंट एंड एनवायरनमेंट एंड हायर एजुकेशन सिस्टम आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं;

दूसरी ओर आप पेपर 2 आप जिस भी विषय में UGC NET क्वालिफाई करना चाहते हैं, उस विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसलिए जिस विषय से आप UGC NET क्वालिफाई करना चाहते हैं, उसके बारे में आपको काफी जानकारी होना बहुत जरूरी है। तभी आप UGC NET की परीक्षा पास कर पाएंगे।

6 पीएचडी के साथ जारी रखें

अगर आप यूजीसी नेट की परीक्षा पास कर लेते हैं तो उसके बाद आप पीएचडी करते हुए आगे की पढ़ाई जारी रख सकते हैं, नहीं तो आप असिस्टेंट प्रोफेसर या लेक्चरर के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

लेकिन आपके लिए अच्छा होगा कि आप नेट क्वालिफाई करने के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखें क्योंकि नेट सर्टिफिकेट होना ही काफी नहीं है क्योंकि किसी भी परीक्षा में नेट पास करने के बाद पीएचडी करने वालों को ज्यादा प्राथमिकता दी जाती है। इसलिए आपको अपनी पढ़ाई जारी रखनी चाहिए ताकि भविष्य में आपको अच्छी पोस्ट मिल सके।

7 प्रोफेसर के पद के लिए आवेदन करें

उसके बाद आप किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं और उसमें अर्हता प्राप्त कर उस पद पर नियुक्त हो सकते हैं।


यूजीसी नेट परीक्षा का सिलेबस

दोस्तों अगर आप यूजीसी नेट परीक्षा के सिलेबस की तलाश कर रहे हैं (यूजीसी नेट परीक्षा का सिलेबस) यदि आप सभी विषयों के बारे में जानना चाहते हैं तो आप www.ugc.ac.in/net/syllabus.aspx आप इस लिंक पर जा सकते हैं और देख सकते हैं कि आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी, हालांकि मैंने आपको भी बताया है, लेकिन इस लिंक पर क्लिक करके आप पूरी जानकारी अच्छी तरह से ले सकते हैं।

यूजीसी नेट परीक्षा के लाभ

अधिकांश लोगों को यह नहीं पता है कि UGC NET की परीक्षा पास करने के क्या लाभ हो सकते हैं, तो हम आपको बता दें कि UGC NET परीक्षा उत्तीर्ण करने के निम्नलिखित लाभ हैं, तो आइए सबसे पहले इस विषय के बारे में जानते हैं:-

  1. आपका नेट प्रमाणपत्र जीवन भर के लिए वैध हो जाता है; वहीं अगर आप जेआरएफ की तरह एग्जाम क्लियर करते हैं तो इसकी वैलिडिटी सिर्फ 3 साल की होती है।
  2. अगर आप नेट क्वालिफाई करने के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं तो भी यूनिवर्सिटी उम्मीदवार को करीब 10 से ₹12000 प्रतिमाह की स्कॉलरशिप देती है और अगर आप आईआईटी जैसे संस्थान से पीएचडी कर रहे हैं तो यह रकम जेआरएफ के बराबर हो जाती है यानी इस दौरान आपको प्रति माह 30 से 35 हजार छात्रवृत्तियां दी जाती हैं। तो यह कहा जा सकता है कि नेट क्वालिफाई करने के बाद आपको आगे की पढ़ाई के लिए पैसों की चिंता करने की जरूरत नहीं है।
  3. अगर आप नेट क्वालिफाई करते हैं तो आप बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए किसी भी यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर सकते हैं।


निष्कर्ष

बस के अंतिम शब्दों में मैं आपको बताना चाहता हूं कि यदि आप यूजीसी नेट परीक्षा अगर आप तैयारी कर रहे हैं तो खूब मेहनत करें क्योंकि अगर आप इस परीक्षा को पास कर लेते हैं तो आपको आगे की पढ़ाई में कोई परेशानी नहीं होती है और आप किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर बन सकते हैं इसलिए इस परीक्षा को गंभीरता से लें। लो और पढो

आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको UGC NET की परीक्षा से जुड़े टॉपिक्स के बारे में बताया। इसमें मैंने तुमसे कहा था यूजीसी नेट परीक्षा क्या है? (यूजीसी नेट Meaning in Hindi)UGC NET परीक्षा में बैठने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? (यूजीसी नेट के लिए पात्रता)यूजीसी नेट परीक्षा में चयन की प्रक्रिया क्या है? यूजीसी नेट परीक्षा को क्रैक करने के क्या फायदे हैं? आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको इन सभी चीजों के बारे में बताया है।

Final Words

तो दोस्तों आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी! शेयरिंग बटन पोस्ट के नीचे इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें। इसके अलावा अगर बीच में कोई परेशानी हो तो कमेंट बॉक्स में पूछने में संकोच न करें। आपकी सहायता कर हमें खुशी होगी। हम इससे जुड़े और भी पोस्ट लिखते रहेंगे। तो अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर हमारे ब्लॉग “Various info: education and tech” को बुकमार्क (Ctrl + D) करना न भूलें और अपने ईमेल में सभी पोस्ट प्राप्त करने के लिए हमें अभी सब्सक्राइब करें। 

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। आप इसे व्हाट्सएप, फेसबुक या ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइटों पर साझा करके अधिक लोगों तक पहुंचने में हमारी सहायता कर सकते हैं। शुक्रिया!

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

If you liked the information of this article, then please share your experience by commenting. This is very helpful for us and other readers. Thank you

If you liked the information of this article, then please share your experience by commenting. This is very helpful for us and other readers. Thank you

Post a Comment (0)
Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !