कीबोर्ड ( Keyboard ) क्या होता है। इसकी कुंजियों के प्रकार जानिए। (Types of keys on it)

कीबोर्ड ( Keyboard ) कीबोर्ड एक प्रकार की मुख्य इनपुट डिवाइस है । कीबोर्ड का प्रयोग कम्प्यूटर को अक्षर और अंकीय रूप में डेटा और सूचना देने के लिए करते हैं । कीबोर्ड एक सामान्य टाइपराइटर की तरह दिखता है , किन्तु इसमें टाइपराइटर की अपेक्षा कुछ ज्यादा कुंजियाँ ( Keys ) होती हैं । 

जब कोई कुंजी कोबोर्ड पर दबाई जाती है तो कीबोर्ड , कीबोर्ड कण्ट्रोलर और कीबोर्ड बफर से सम्पर्क करता है । कीबोर्ड कण्ट्रोलर , दबाई गई कुंजी के कोड को कीबोर्ड बफर में स्टोर करता है और बफर में स्टोर कोड सी पी यू के पास भेजा जाता है । सी पी यू इस कोड को प्रोसेस करने के बाद इसे आउटपुट डिवाइस पर प्रदर्शित करता है । 

कुछ विभिन्न प्रकार के कीबोर्ड जैसे कि QWERTY , DVORAK और AZERTY मुख्य रूप से प्रयोग किए जाते हैं ।

कीबोर्ड ( Keyboard ) क्या होता है। इसकी कुंजियों के प्रकार जानिए।



कीबोर्ड में कुंजियों के प्रकार ( Types of Keys on Keyboard ) 

कीबोर्ड में निम्न प्रकार की कुंजियाँ होती हैं 

( i ) अक्षरांकीय कुंजियाँ ( Alphanumeric Keys ) इसके अन्तर्गत अक्षर कुंजियाँ ( A , B ....... Z , a , b , c , ...... , z ) और अंकीय कुंजियाँ ( 0 , 1 , 2 , .... , 9 ) आती हैं । 

( ii ) अंकीय कुंजियाँ ( Numeric Keys ) ये कुंजियाँ कीबोर्ड पर दाएँ तरफ होती हैं । ये कुंजियाँ अंको ( 0 , 1 , 2 , ..., 9 ) और गणितीय ऑपरेटरों ( Mathematical operators ) से मिलकर बनी होती है । 

( iii ) फंक्शन कुंजियाँ ( Function Keys ) इन्हें प्रोग्रामेबल कुंजियाँ भी कहते हैं । इनके द्वारा कम्प्यूटर से कुछ विशिष्ट कार्य करवाने के लिए निर्देश दिया जाता है । ये कुंजियाँ अक्षरांकीय कुंजियों के ऊपर Fl , F2, ... , F12 से प्रदर्शित की जाती हैं । 

( iv ) कर्सर कण्ट्रोल कुंजियाँ ( Cursor Control Keys ) इसके अन्तर्गत चार तीर के निशान वाली कुंजियाँ आती हैं जो चार दिशाओं ( दाएँ , बाएँ , ऊपर , नीचे ) को दर्शाती हैं । 

ये कुंजियाँ अक्षरांकीय कुंजियों और अंकीय कुंजियों के मध्य उल्टे T आकार में व्यवस्थित होती हैं , इनका प्रयोग कर्सर को ऊपर , नीचे , दाएँ या बाएँ ले जाने के लिए करते हैं । इन चारों कुंजियों के अतिरिक्त चार कुंजियाँ और होती हैं , जिनका प्रयोग कर्सर को कण्ट्रोल करने के लिए करते हैं । ये कुंजियाँ निम्न हैं 

( a ) होम ( Home ) इसका प्रयोग लाइन के प्रारम्भ में या डाक्यूमेण्ट के प्रारम्भ में कर्सर को वापस भेजने के लिए करते हैं । 

( b ) एण्ड ( End ) इसका प्रयोग कर्सर को लाइन के अन्त में भेजने के लिए करते हैं । 

( c ) पेज अप ( Page Up ) जब इस कुंजी को दबाया जाता है तो पेज का व्यू ( View ) एक पेज ऊपर हो जाता है और कर्सर पिछले पेज पर चला जाता है । 

( d ) पेज डाउन ( Page Down ) जब ये कुंजी दबाई जाती है तो पेज का व्यू एक पेज नीचे हो जाता है और कर्सर अगले पेज पर चला जाता है ।



कीबोर्ड की अन्य कुंजियाँ 

अन्य कुंजियाँ निम्नलिखित हैं 

  • कण्ट्रोल कुंजियाँ ( Control Keys - Ctrl ) ये कुंजियाँ , अन्य कुंजियों के साथ मिलकर किसी विशेष कार्य को करने के लिए प्रयोग की जाती हैं । जैसे Ctrl + S डॉक्यूमेण्ट को सुरक्षित करने के लिए प्रयोग होती हैं ।
  • एण्टर कुंजी ( Enter Key ) इसे कीबोर्ड की मुख्य कुंजी भी कहते हैं । इसका प्रयोग उपयोगकर्ता द्वारा टाइप किए गए निर्देश को कम्प्यूटर को भेजने के लिए किया जाता है । एण्टर कुंजी टाइप करने के बाद निर्देश कम्प्यूटर के पास जाता है और निर्देश के अनुसार कम्प्यूटर आगे का कार्य करता है । 
  • शिफ्ट कुंजी ( Shift Keys ) कीबोर्ड में कुछ कुंजी ऐसी होती हैं , जिनमें ऊपर - नीचे दो संकेत छपे होते हैं । उनमें से ऊपर के संकेत को टाइप करने के लिए उसे शिफ्ट कुंजी के साथ दबाते हैं । इसे कॉम्बीनेशन - की भी कहा जाता है । 
  • एस्केप कुंजी ( Escape Key ) इसका प्रयोग किसी भी कार्य को समाप्त करने या बीच में रोकने के लिए करते हैं । यदि Ctrl Key दबाए हुए , एस्केप कुंजी दबाते हैं तो यह स्टार्ट मेन्यू ( Start Menu ) को खोलता हैं । 
  • बैक स्पेस कुंजी ( Back Space Keys ) इसका प्रयोग टाइप किए गए डेटा या सूचना को समाप्त करने के लिए करते हैं। यह डेटा को दाएँ से बाएँ दिशा की ओर समाप्त करता है । 
  • डिलीट कुंजी ( Delete Keys ) इस कुंजी का प्रयोग कम्प्यूटर की मेमोरी से सूचना और स्क्रीन से अक्षर को समाप्त करने के लिए करते हैं । किन्तु यदि इसे शिफ्ट की के साथ दबाते हैं तो चुनी हुई फाइल कम्प्यूटर की मेमोरी से स्थायी रूप से समाप्त हो जाती हैं । 


  • कैप्स लॉक कुंजी ( Caps Lock Key ) इसका प्रयोग वर्णमाला ( Alphabet ) को बड़े अक्षरों ( Capital letters ) में टाइप करने के लिए करते हैं । जब ये की सक्रिय ( Enable ) होती है तो बड़े अक्षर में टाइप होता हैं । यदि यह कुंजी निष्क्रिय ( Disable ) होती है तो छोटे अक्षर ( Small Letter ) में टाइप होता है । 
  • स्पेसबार कुंजी ( Spacebar Key ) इसका प्रयोग दो शब्दों या अक्षरों के बीच स्पेस बनाने या बढ़ाने के लिए किया जाता है । यह कीबोर्ड की सबसे लम्बी कुंजी होती हैं । 
  • नम लॉक की ( Num Lock Key ) इसका उपयोग सांख्यिक की - पैड ( Numeric Key pad ) को सक्रिय या निष्क्रिय करने के लिए किया जाता है । यदि ये कुंजी सक्रिय होती है तो अंक टाइप होता है और यदि ये कुंजी निष्क्रिय होती है तो अंक टाइप नहीं होता है।
  • विण्डो कुंजी ( Window Key ) इसका प्रयोग स्टार्ट मेन्यू को खोलने के लिए करते हैं । 
  • टैब कुंजी ( Tab Key ) इसका प्रयोग कर्सर को एक बार में पाँच स्थान आगे ले जाने के लिए किया जाता है । कर्सर को पुनः पाँच स्थान वापस लाने के लिए टैब कुंजी को शिफ्ट कुंजी के साथ दबाया जाता है । इसका प्रयोग पैराग्राफ इण्डेंट करने के लिए भी किया जाता है । 
  • एण्टर कुंजी ( Enter Key ) ओके बटन ( OK Button ) दबाने का एक वैकल्पिक ( Alternative ) तरीका है ।
  • शिफ्ट कुंजी ( Shift Key ) इस कुंजी ( Key ) को दूसरी कुंजियों के साथ प्रयोग किया जाता है , इसलिए इसे संयोजन कुंजी ( Combination ) भी कहते हैं । 
  • कैप्स लॉक ( Caps Lock ) और नम लॉक ( Num Lock ) को टोगल कुंजी ( Toggle Keys ) कहते हैं क्योंकि जब ये दबाए जाते हैं तो इनकी अवस्थाएँ ( States ) परिवर्तित होती रहती हैं । 

  • QWERTY कीबोर्ड में कुल 104 कुँजी होती हैं ।

तो दोस्तों, कैसी लगी आपको हमारी यह पोस्ट ! इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है। इसके अलावे अगर बिच में कोई समस्या आती है तो Comment Box में पूछने में जरा सा भी संकोच न करें। अगर आप चाहें तो अपना सवाल हमारे ईमेल Personal Contact Form को भर पर भी भेज सकते हैं। हमें आपकी सहायता करके ख़ुशी होगी । इससे सम्बंधित और ढेर सारे पोस्ट हम आगे लिखते रहेगें । इसलिए हमारे ब्लॉग “Computer Variousinfo” को अपने मोबाइल या कंप्यूटर में Bookmark (Ctrl + D) करना न भूलें तथा सभी पोस्ट अपने Email में पाने के लिए हमें अभी Subscribe करें। अगर ये पोस्ट आपको अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें। आप इसे whatsapp , Facebook या Twitter जैसे सोशल नेट्वर्किंग साइट्स पर शेयर करके इसे और लोगों तक पहुचाने में हमारी मदद करें। धन्यवाद !





Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad




Below Post Ad