TDS क्या होता है? TDS कब भरें? जानिए TDS भरने के फ़ायदे क्या होते है!

TDS सुनते ही आपके मन में कई तरह के सवाल आते होंगे। जैसे TDS क्यों लगाया जाता है? TDS कितनी आय पर लगता है? टैक्स के रूप में काटी गई यह रकम कहां जाती है ? कौन काट सकता है TDS? TDS रिफंड पाने के लिए क्लेम कैसे करें? आज यहां आपको सारे सवालों के जवाब मिलेंगे।

TDS सरकार के द्वारा Tax लेने का तरीका है। जिससे Tax की चोरी को काफी हद तक रोका जा सकता है। टीडीएस के और भी फ़ायदे है जो सरकार और जनता दोनों को होते है। अगर आप Tax भरते है तो आपको पता होना चाहिए की TDS कैसे निकलते हैं।

यदि आपको नहीं पता तो आज की Post में आपको TDS कैसे निकालते हैं? इसकी पूरी जानकारी मिलेगी। 


Table Of Contents (TOC)


TDS क्या होता है? TDS कब भरें? जानिए TDS भरने के फ़ायदे क्या होते है!


TDS क्या होता है ? TSD Kya Hota Hai

What is TDS: TDS Income Tax का एक हिस्सा होता है। इसका मतलब होता है 'Tax deducted at source' यह Income Tax को आंकने का एक तरीका हैं।

 Income Tax से TDS ज्यादा होने पर Refund claim किया जाता है और कम होने पर Advance tax या Self assessment tax जमा करना होता है।

TDS Income Tax का ही एक रूप है। TDS कई तरह के Income Sources (आय स्रोतों) पर काटा जाता है। जैसे किसी Investment पर मिले Interest या Commission आदि पर। 

या कहूँ TDS शुरू करने का मकसद था सोर्स पर ही टैक्स काट लेना है। अगर किसी की कोई आय होती है तो उस आय से टैक्स काटकर अगर व्यक्ति को बाकी रकम दी जाए तो टैक्स के रूप में काटी गई रकम को TDS कहते हैं।

सरकार TDS के जरिए टैक्स जुटाती है। यह अलग-अलग तरह के Income sources पर काटा जाता है जैसे कि सैलरी, किसी निवेश पर मिले ब्याज या कमीशन आदि पर।

TDS FULL FORM – “TAX DEDUCTED AT SOURCE” 

टीडीएस फुल फॉर्म हिंदी में – “स्त्रोत पर कर कटौती” 


TDS आयकर अधिनियम 1961 के द्वारा Income Tax जमा करने का एक तरीका है। जिसे सरकार Advance जमा कराती है।

TDS Payment Tax का ही एक तरीका होता है तथा इसके अलावा Advance Tax और Self Assessment Tax भी Payment के तरीके होते है। ऊपर बता चुके हैं ।

TDS क्या है अब तो यह आपको अच्छे से समझ आ गया होगा ।
अब आगे आपको TDS भरने के फ़ायदे बताए गए है। 


TDS के क्या फायदे होते हैं ? - TSD Ke Kya Fayade Hote Hain 

TDS से सिर्फ सरकार को ही फायदा नहीं होता है, बल्कि इससे Income Earners को भी फ़ायदा होता है। आइये आगे जानते है TDS के इन फ़ायदों के बारे में। 

अगर आप Tax भरते है तो इससे हमारे ही देश का विकास होता है। Tax भरने से सरकार के पास पैसा आता है जो की देश के विकास में ही सहायक होता है।

TDS भरने का सबसे बड़ा फायदा है Tax की चोरी रोकना यानि की इससे Tax की चोरी रुक जाती है तथा जिन लोगों की Income ज्यादा है वह Tax की चोरी नहीं कर पाएँगे। इसलिए income source पर TDS काटा जाता है। 

Tax भरने से सरकार की अच्छी Income होती है। जिसके द्वारा सरकार खर्च और व्यवस्था को सही तरीके से पूरा कर पाती है।

TDS के द्वारा सिर्फ नौकरी पेशा लोग ही Tax नहीं भरते बल्कि वे लोग जो किसी ना किसी तरह से अच्छी Income करते वे सभी Tax भरते है।
TDS हर आय पर और हर किसी लेन-देन पर लागू नहीं होता है।

उदाहरण के तौर पर अगर आप भारतीय हैं और आपने Debt mutual funds में निवेश किया तो इस पर जो आय प्राप्त हुई उस पर कोई TDS नहीं चुकाना होगा ।

 लेकिन अगर आप NRI (अप्रवासी भारतीय) हैं तो इस फंड से हुई आय पर आपको TDS देना होगा।

जिन लोगों की अच्छी Income होती है वह TDS के द्वारा Tax के Under आ जाते है जिससे की Salaried Person से लेकर अन्य Profession में आने वाले लोगों द्वारा सरकार Revenue प्राप्त कर पाती है। 

अब आगे आप TDS भरने के बारे में जानेंगे की TDS कैसे भरते है।

 

TDS कैसे भरें -TDS Kaise Bhare

कोई भी संस्थान (जो TDS के दायरे में आता है) जो भुगतान कर रहा है, वह एक निश्चित Amount TDS के रूप में काटता है। 

जिससे टैक्स लिया गया है उसे भी TDS कटने का सर्टिफिकेट जरूर लेना चाहिए।

 डिडक्टी अपने चुकाए गए टैक्स का Tds claim कर सकता है। हालांकि उसी Financial year में क्लेम करना पड़ता है।

जो Payment करता है TDS सरकार के खाते में जमा करने की जिम्मेदारी भी उसकी ही होती है। TDS काटने वालों को Didctor कहा जाता है। वहीं जिसे टैक्स काट के पेमेंट मिलती है उसे Didacti कहते हैं। _

फार्म 26AS एक Tax statement है जिसमें यह दिखाया जाता है कि काटा गया टैक्स और व्यक्ति के नाम या पैन में जमा किया गया है। 

प्रेत्यक डिडक्टर को TDS certificate जारी करके ये बताना भी जरूरी है कि उसने कितना TDS काटा और सरकार को जमा किया।

क्या आप भी TDS भरना चाहते है ? लेकिन आपको नहीं पता की TDS कैसे भरना है। तो इसके बारे में आपको आगे बताए गया है। 


TDS Online कैसे भरें - Tds Online Kaise Bhare 

TDS Online भरने के लिए नीचे कुछ Steps दी गई है तो Follow करे यह Steps और जाने की TDS Online कैसे भरा जाता है। 

Go To Website : सबसे पहले आपको Nsdl की Website पर जाना है। 

Challan No./ Itns 281 : यहाँ आपको TDS Challan No./ Itns 281 Select करना है।

E- Payment Form : इसके बाद एक Form Open होगा। जिसे आप पूरा सही सही भरे।

Tax Applicable : अगर किसी Company का चालान भरना है तो Company Deductees को Select करे। Company के अलावा किसी दूसरे फर्म, संस्था व्यक्ति के लिए Non – Company Deductees को Select करे।

Tax Deduction Account No./Assessment Year : इस Option में Tan Number Enter करे और Assessment Year Enter करे जिसके लिए आपको Payment करना है। 

Basic Details : इसमें अपनी Basic Details को भरना है।

  • अपना पूरा नाम लिखे जो आपके Pan Card में लिखा हो।
  • Flat No., Street, Address, City, Pin Code, State, Locality को भरे।
  • Email Id और Mobile Number लिखे।

Type Of Payment : इसमें आपको Payment Select करना है। आपको जो भी Tax भरना है वो Select करे।

Select Net Banking – इसमें Bank Name Select करना है, Net Banking की Site पर जाये और Login करे।

Select Account – अपना Account Select करे।

Enter The Amount – Basic व Others में Tax की Calculation करके Amount Fill करे और Proceed पर Click करके Submit कर दे।

इस तरह से आप इन Steps को Follow करके TDS भर सकते है। 


TDS कैसे कटता है - TDS कैसे काटा जाता है Tds Kaise Kata Jata Hai - Tds Katne Ke Niyam

आपकी Salary में से आपका TDS तो कटता है लेकिन क्या आप जानते है की यह किस तरह से काटा जाता है। अगर आपको नहीं पता TDS कैसे काटता है तो इसके बारे में नीचे बताया जा रहा है। 

आय (Income) और व्यय (Investment) जैसे Salary, Bank से मिलने वाला ब्याज, घर का किराया और कमीशन का भुगतान आदि TDS के अंदर आते है। 

Payment करते समय कुछ पैसे काट लिए जाते है इसे TDS की कटौती करना कहा जाता है। इसके बारे में Deductee को पहले से पता होता है। ऊपर हमने बता चुके हैं कि Deductee किसे कहते हैं।

TDS बहुत से Payment पर काटा जाता है जैसे- Interest, Salary, Dividend, Commission, Rent आदि। Employer के द्वारा अपने Employees को जो Salary दी जाती है उस पर TDS काटा जाता है। 

जिसकी Income से Tax काटा जाता है उसे भी TDS Certificate मिलने का अधिकार होता है ।


कैसे जाने TDS कटा है या नहीं - Kaise Jane Tds Kitna Kata Hai

कैसे जाने कि TDS कटा है कि नहीं ? - TDS कैसे चेक करें

अगर आप यह जानना चाहते है की आपका TDS कटा है या नहीं या फिर कितना टीडीएस कटा है । तो इसके लिए आपको नीचे जानकारी दी गई है। 

दोस्तों Form 26 As में पूरी तरह से TDS के बारे में जानकारी दी गई होती है। इस Form में काटे गए Tax और जमा रकम के बारे में पूरी तरह से बताया गया होता है। 

TDS कितना कटा है या इसे आपके नाम से जमा किया गया है या नहीं तो आइये जानते है एक दूसरे तरीके से कि TDS चेक कैसे करते है। 

Step 1. Visit Official Website : सबसे पहले आपको Incometaxindiaefiling की Official Website पर जाना है।

Step 2. Register Yourself : अब यहाँ आपको Register Yourself का Option दिखेगा उस पर Click करे। 

Step 3. Select User Type : इसमें आपको User Type Select करना है। 

Step 4. Enter Details : यहाँ आपको Pan में दी गई Details के आधार पर सारी जानकारी देनी है। जिसके बाद Password Generate करना है। 

Step 5. Login Account : अब User Id और Password के द्वारा Account को Login करे।

Step 6. Click View Tax Credit Statement (26 As) :  इसके बाद आपको यह Option दिखेगा इस पर Click करे। 

बस इस पर Click करने के बाद आप Traces (TDS Reconciliation Analysis And Correction Enabling System) की Website पर पहुँच जाओगे जहाँ पर आपको TDS की सारी जानकारी मिल जाएगी। 


TDS Calculate कैसे करें - TDS कैसे निकाले ? - Tds Kaise Calculate Karen

TDS कैसे निकालते है आइये हम आपको एक उदाहरण के द्वारा समझाने का प्रयास करते है। 

इस उदाहरण को समझकर आप अपना TDS निकाल सकते है। मतलब की आप TDS गणना कर सकते है। 


मान लीजिये किसी Financial Year में आपकी जो Earned Income होती है तो आपकी Earned Income में Taxable Income 1 लाख रुपये है। और किसी X नाम की फर्म ने आपको Payment करते समय 40 हजार रुपये की कटौती की है।

तथा Y नाम की किसी दूसरी फर्म ने आपको Payment करते समय Total Income से 45 हजार रुपये की TDS कटौती की है। 

तो Total TDS कटौती 95 हजार रुपये होगी। तथा आपकी Total Taxable Income 1 लाख रुपये है। उसमें से आप 95 हजार कम कर दे, मतलब आपको अब 5 हजार रूपये ही Income Tax भरना है। इसप्रकार आप आसानी से टीडीएस निकाल सकते हैं।


TDS Rate - टीडीएस की दरें

आगे आपको एक TDS Rates बताए जा रहे है जिसमें TDS Section को भी बताया गया है। इससे आपको TDS Rates समझने में आसानी होगी। तो चलिए इन TDS Rates को जानते है ।




TDS Refund पाने के लिए क्या करें - Tds Refund Kaise Payen

TDS वापस पाने के नियम

अब आपने अपने TDS के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर ली है। और यदि आपका TDS आपके आयकर से ज्यादा कटौती की गई है। 

तो आप TDS द्वारा कटौती की गई धनराशि को वापस पाने के लिए क्लेम कर सकते हैं। इसे आप इस तरह समझ सकते हैं।

 मान लीजिए आप की कुल कर योग्य आय 1 लाख रुपये है। और आपका एक वित्तीय वर्ष में 1 लाख से अधिक TDS काटा गया है। 

तो आप ITR भरने में अतिरिक्त काटे गए TDS को वापस पाने के लिए क्लेम कर सकते हैं। क्लेम करने के कुछ समय पश्चात आपके अकाउंट में धनराशि वापस कर दी जाएगी।

इसके साथ ही यदि आपका कम TDS काटा गया है। तो आप इनकम टैक्स ITR भरते समय TDS में जमा की गई धनराशि को कम करके अपना ITR भर सकते हैं। इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं।

मान लीजिए आप की कर योग्य आय 1 लाख रुपए है। और आप का TDS मात्र ₹90 हजार काटा गया है। 

तो आप बचे हुए ₹10000 आईटीआर भरते समय जमा करने होंगे।


TDS Refund क्लेम कैसे करें ? Tds Vapas Kaise Payen

TDS वापस पाने के लिए क्लेम कैसे करें? -

यदि आप आयकर से ज्यादा TDS काटा गया है। तो आप इसे वापस पाने के लिए क्लेम कर सकते हैं। 

इसके लिए आप जब income tax return फाइल करेंगे। तो वहां पर आपको एक TDS का भी कॉलम दिया जाता है। 

जहां पर आप अपने TDS के बारे में सभी जानकारी दे सकते हैं। और अपने अतिरिक्त काटे गए TDS को रिफंड प्राप्त कर सकते हैं। 

आपके अकाउंट से 10% TDS काटा जाता है। और जब आपको रिफंड प्रदान किया जाएगा। तो आपको 6% का ब्याज भी मिलता है।

TDS - FAQ



TDS - In Final Words

दोस्तों यहाँ आपने TDS के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की । आशा करता हूँ कि अब आप भी आसानी से इस Post के द्वारा TDS भर पाएँगे। 

इसके साथ ही आपको TDS से जुड़ी और भी जानकारी मिली। जैसे
TDS क्या है। TDS के फ़ायदे क्या है। TDS कैसे भरे।TDS कैसे कटता है। TDS कैसे Check करे। TDS कैसे निकाले। TDS की Rates क्या है।TDS वापस पाने के लिए क्लेम कैसे करें?


तो यह सब जानकारी आपको मिली कैसी लगी दोस्तों आपको यह जानकारी Comment करके बताए और इस पर आपके कोई सुझाव है तो वो भी Comment करे। 

इस Post को अपने दोस्तों के साथ Social Media पर भी Share करे जिससे की ज्यादा से ज्यादा लोगों को TDS की जानकारी मिलेगी इसके लिए आप Whatsapp, Facebok, Instagram, Twitter का Use कर सकते है। 

पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद 

_

Tags –TDS क्या है, TDS के फ़ायदे क्या है, TDS कैसे भरे, TDS कैसे कटता है, TDS कैसे Check करे, TDS कैसे निकाले, TDS की Rates क्या है, TDS वापस पाने के लिए क्लेम कैसे करें? TDS रिफंडकैसे मिलेगा, आयकर TDS वापसी, धनवापसी की स्थिति TDS, वापसी समय सीमा TDSTDS प्रमाणपत्र क्या है, TDS की दरें, कटौती विवरण TDSTDS धन वापसी की प्रक्रिया, आयकर रिफंड कैसे पायें?

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad




Below Post Ad